Wipro के CEO की सैलरी सुनकर उड़ जाएंगे होश, इन्फोसिस के सलिल पारेख को छोड़ा पीछे

बिजनेस डेस्कः बीते दिनों भारतीय आईटी सेक्टर में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ का ताज इंफोसिस के सलिल पारेख को मिला था।  

कंपनी की ओर से 88 फीसदी बढ़ोतरी के बाद उनकी सैलरी 79.75 करोड़ रुपए हो गई  थी लेकिन, अब विप्रो के विदेशी सीईओ थेरी डेलपोर्ट इस मामले में सबसे आगे  निकल गए हैं।   

विप्रो की ओर से यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन के पास जमा कराई गई  जानकारी के मुताबिक, जुलाई 2020 में कंपनी से जुड़ने के बाद वित्त वर्ष  2020-21 में डेलपोर्ट का सालाना पैकेज 64.3 करोड़ रुपए था। 

इसके बाद कंपनी ने 31 मार्च 2022 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में उन्हें 79.8 करोड़ रुपए का पैकेज दिया है।  

अब तक सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले एग्जिक्युटिव के रूप में इंफोसिस के सीईओ  आगे थे। कंपनी ने वेतन वृद्धि के बाद कहा था कि पारेख के काम का दाम  उन्हें दिया गया है 

दूसरी बड़ी कंपनियों के सीईओ की बात करें तो इस सूची में देश की सबसे बड़ी  आईटी कंपनी टीसीएस के सीईओ राजेश गोपीनाथन को इस दौरान 25.77 करोड़ रुपए  मिले, जो पिछले वित्त वर्ष से 27 फीसदी अधिक है।  

बीते दिनों भारतीय आईटी सेक्टर में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ का ताज  इंफोसिस के सलिल पारेख को मिला था। दरअसल, कंपनी की ओर से 88 फीसदी  बढ़ोतरी के बाद उनकी सैलरी 79.75 करोड़ रुपए हो गई थी