WhatsApp बेच सकते हैं Mark Zuckerberg, इस वजह से लेना पड़ सकता है फैसला, जानिए मामला 

फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने पहली बार अपने राजस्व में गिरावट देखी है।   साल 2022 की दूसरी तिमाही में रेवेन्यू में गिरावट देखने को मिली है। 

इसका असर कंपनी के इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp पर भी देखा जा सकता है।  कंपनी इसे बेच सकती है।  

रिपोर्ट के मुताबिक, मेटा की कुल रेवेन्यू में 1 फीसदी की गिरावट आई है।   इससे इसकी कमाई घटकर 28.8 अरब डॉलर (करीब 23 हजार अरब रुपये) रह गई है।  

कंपनी ने यह भी अनुमान लगाया है कि तीसरी तिमाही में भी इसमें गिरावट देखने को मिल सकती है।   

कंपनी के अनुमान के मुताबिक तीसरी तिमाही में उसकी कमाई करीब 20 हजार अरब रुपये तक पहुंच सकती है. 

फेसबुक को छोड़कर, मेटा का कुल लाभ भी 36% गिरकर 6.7 बिलियन डॉलर हो गया।  

मेटावर्स के लिए फेसबुक की बड़ी योजनाएं हैं और कंपनी पहले ही इस पर अरबों डॉलर का निवेश कर चुकी है।   

रियलिटी लैब्स, मेटा का एक विशेष प्रभाग, मार्क जुकरबर्ग के मेटावर्स सपने पर काम कर रहा है

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने व्हाट्सएप पर सबसे ज्यादा  निवेश किया, लेकिन कंपनी को इसका कोई खास फायदा नहीं मिल रहा है।