वंदे भारत एक्सप्रेस जानवरों के झुंड से टकराई, 20 मिनट रुकी

मुंबई सेंट्रल और गांधीनगर राजधानी के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस गुरुवार को क्षतिग्रस्त हो गई। 

घटना सुबह 11.15 बजे की है, जब बटवा और मणिनगर स्टेशनों के बीच चलती ट्रेन के सामने कुछ भैंसें आ गईं।

वंदे भारत एक्सप्रेस का इंजन क्षतिग्रस्त हो गया, जिसे रेलवे कर्मियों ने ठीक किया. गनीमत रही कि घटना में किसी को चोट नहीं आई।

वंदे भारत एक्सप्रेस समय पर गांधीनगर कैपिटल स्टेशन से मुंबई सेंट्रल के लिए रवाना हुई।

पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) जोन ने वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के यात्रा समय को 5 अक्टूबर से और कम कर दिया है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी साल 30 सितंबर को गांधीनगर राजधानी और मुंबई सेंट्रल के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था.

रेल मंत्रालय ने जानकारी दी थी कि वंदे भारत एक्सप्रेस 160 किमी प्रति घंटे की अधिकतम गति तक चल सकती है

और इसमें शताब्दी ट्रेन के समान यात्रा का अनुभव होगा, लेकिन बेहतर सुविधाओं के साथ।

पीएम मोदी के 'मेक इन इंडिया' के विजन को ध्यान में रखते हुए वंदे भारत एक्सप्रेस को भारत में डिजाइन किया गया है

ट्रेन विश्व स्तरीय यात्री सुविधाओं से लैस भारत की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन है।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर और मुंबई के बीच सप्ताह में 6 दिन चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस अब करीब साढ़े छह घंटे में 519 किमी की दूरी तय करती है।