खाली पड़े छत में लगवाएं सोलर पैनल, करें लाखो की कमाई, नहीं करना है 1 रुपया भी खर्च

केंद्र सरकार ने देशभर में बिजली और कोयले की खपत को कम करने के लिए फ्री  सोलर पैनल योजना शुरू की है. इसके तहत सरकार लोगों को सोलर पैनल लगाने के  लिए सब्सिडी दे रही है.

ये सब्सिडी आपके प्लांट साइज पर निर्भर करती है. यदि आपका प्लांट बड़ा है तो आपका ज़्यादा सब्सिडी मिलेगी।

बिजली बेचकर मोटा पैसा भी कमा सकते है। सोलर प्लांट को आप 25 साल तक फ्री बिजली और कमाई का जरिया भी बना सकते है।

सोलर पैनल लगवाने के लिए सबसे पहले आपको अपने घर पर होने वाली बिजली खर्च  का आकलन करना होगा। क्योंकि सोलर प्लांट कई तरह के होते है और इनमें लगने  वाली बैटरी और ऑन ग्रिड के विकल्प भी अलग-अलग होते हैं.

इनवर्टर भी सोलर वाला एक अलग तरीके का होता है। आज कल सोलर और बिजली के लिए एक ही इनवर्टर काम में आ जाता है।

साथ ही ये इनवर्टर पर भी निर्भर करता है कि वह बादल वाले मौसम में भी बिजली  सप्लाई करना जारी रखता है या नहीं। ऑन ग्रिड में आपको सरकार अतिरिक्त  बिजली बनाने पर भी पैसा देती है।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए यदि आपके घर में एक 1 टन के दो इनवर्टर एयर कंडीशनर है, साथ ही आप कूलर पंखे और लाइट चलाना चाहते है

तो आपको न्यूनतम 4 किलोवाट का सोलर सिस्टम लगाना होगा जो प्रतिदिन 20 यूनिट बिजली पैदा कर सके।

सोलर प्लांट के लिए आवश्यक सामग्री में एक सोलर इनवर्टर, सोलर बैटरी और  सोलर पैनल आता है। इसके बाद वायरिंग, फिटिंग, स्टैंड जैसा अन्य खर्च होता  है।