स्मार्टफोन की बैटरी से आप भी करते हैं ये गलतियां तो आज ही बंद कर दें

स्मार्टफोन यूजर्स के पास फोन की बैटरी को लेकर कई तरह के मिथ हैं, जिन्हें दूर करना बेहद जरूरी है।

यूजर्स हमेशा लंबी बैटरी लाइफ की तलाश में रहते हैं। लेकिन इन मिथकों की वजह से बैटरी चार्ज करने में काफी परेशानी होती है और उन्हें फोन को बार-बार चार्ज करना पड़ता है।

यूजर को फोन चार्ज करने का सही तरीका नहीं पता होता है और फोन की बैटरी को लेकर काफी लापरवाही बरती जाती है

वैसे तो आजकल फास्ट चार्जिंग का जमाना है। लेकिन फिर भी फोन की बैटरी को लेकर कई ऐसी बातें हैं जिन्हें नजरंदाज करना बेहद जरूरी है।

ध्यान रहे कि अगर फोन की बैटरी खराब हो जाती है तो उसमें विस्फोट भी हो सकता है और इससे आपको काफी नुकसान हो सकता है।

कई स्मार्टफोन यूजर्स हैं जो अपने फोन को बार-बार 100 प्रतिशत तक चार्ज करना पसंद करते हैं।

वैसे तो आपके लिए अपने फोन को दिन भर चालू रखना जरूरी है, लेकिन यह कई बार बैटरी के लिए खराब हो सकता है

कई यूजर्स की आदत होती है कि जब तक बैटरी 0 प्रतिशत तक नहीं गिर जाती, तब तक फोन को ऑन नहीं रखना चाहिए। जब नहीं करना चाहिए।

आपको फोन को आंशिक रूप से चार्ज करने की आवश्यकता है। फोन को 90 प्रतिशत तक चार्ज करें और इसे तब तक इस्तेमाल करते रहें

जब तक कि यह 30 प्रतिशत तक न पहुंच जाए। इसके बाद फोन को दोबारा चार्ज पर लगा दें।

बहुत से लोग मानते हैं कि रात भर फोन चार्ज करने से बैटरी लाइफ बेहतर होती है। यह एक मिथक है।

फोन को चार्ज करने के बाद आप उसे हटा दें, इसे रात भर चार्ज करने पर न छोड़ें। इससे फोन की बैटरी खराब हो सकती है।