Scholarship Scheme: झारखंड के छात्रों के लिए अब विदेश में पढ़ना आसान, UK और राज्य सरकार मिलकर देगी स्कॉलरशिप, ऐसे करें अप्लाई

युवाओं के लिए झारखंड सरकार और यूनाइटेड किंगडम सरकार एक साथ स्कॉलरशिप योजना (Scholarship Scheme) लॉन्च करने की तैयारी में है.  

देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी राज्य के युवाओं को  विदेशी उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए ब्रिटिश हाई कमीशन के साथ कोई साझा  पहल की जा रही हो. 

झारखंड सरकार द्वारा मरंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय स्कॉलरशिप योजना  का लाभ अनुसूचित जनजाति के अलावा अनुसूचित जाति, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक  वर्ग के युवाओं को मिलेगा. 

इस संबंध में राज्य सरकार और विदेश राष्ट्रमंडल और विकास कार्यालय  (एफसीडीओ) ब्रिटिश उच्चायोग, नई दिल्ली के साथ 3 साल का साझा MoU किया  जाएगा. 

इस स्कॉलरशिप योजना के जरिए यूनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एण्ड नॉर्थेन  आयरलैण्ड के चयनित संस्थानों और विश्वविद्यालयों में पढ़ाई का लिए वित्तीय  सहायता प्रदान की जा रही है. 

इसमें (Government Scholarship) आवेदन करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट- mgos.jharkhand.gov.in पर जाना होगा. इसमें ऑनलाइन अप्लाई करने की आखिरी तारीख- 25 जून 2022 है. 

झारखंड सरकार द्वारा मरंग गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय स्कॉलरशिप योजना  के तहत सितंबर 2021 में चयनित सात छात्र/छात्राएं जब उच्च शिक्षा के लिए  विदेश जा रहे थे 

उस समय राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा था कि जल्द सभी वंचित  वर्ग जैसे अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिभाशाली  युवाओं को भी अनुसूचित जनजाति के युवाओं के साथ उच्च शिक्षा का अवसर दिया  जाएगा. 

मुख्यमंत्री सोरेन ने एक साल से भी कम समय में इन युवाओं का विदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करने मार्ग प्रशस्त किया है. 

साथ ही, मुख्यमंत्री के प्रयास से ब्रिटिश उच्चायोग द्वारा अधिकतम 5 छात्र/  छात्राओं को स्कॉलरशिप प्रदान करने के लिए शेवनिंग-मरङ गोमके जयपाल सिंह  मुंडा स्कॉलरशिप योजना शुरू की गई है.