Reliance Jio : मुकेश अंबानी को इस शख्स ने दिया था Jio का आइडिया

Reliance Jio को लॉन्च हुए 6 साल पूरे हो गए हैं। 5 सितंबर 2016 को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने टेलीकॉम सेक्टर में कदम रखते हुए जियो को लॉन्च किया था।

पिछले 6 सालों में जियो ने टेलीकॉम इंडस्ट्री को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है।

अब बात करते हैं आंकड़ों की। जियो के आने से पहले टेलीकॉम इंडस्ट्री का फोकस कॉलिंग पर था।

Jio के आने से पहले भी भारत में सोशल मीडिया मौजूद था, लेकिन इसे आम लोगों तक पहुंचाने में Jio का बहुत बड़ा योगदान है।

टेलीकॉम इंडस्ट्री को बदलने वाली जियो का आइडिया कहां से आया? ऐसा आपने कई बार सुना होगा कि हर बड़े बिजनेस की शुरुआत एक छोटे से आइडिया से होती है।

जियो के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। Jio Reliance Industries का एक हिस्सा है और इसे मुकेश अंबानी ने लॉन्च किया है, यह जानकारी सभी के लिए है।

लेकिन मुकेश अंबानी के दिमाग में Jio जैसी सर्विस शुरू करने का ख्याल कहां से आया? इसका जवाब खुद मुकेश अंबानी ने दिया है।

साल 2018 में मुकेश अंबानी ने लंदन में एक इवेंट के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया था, 'जियो का आइडिया मुझे अपनी बेटी ईशा से मिला।

2011 में ईशा येल यूनिवर्सिटी में पढ़ रही थी और छुट्टियां मनाने घर आई थी। उन्हें अपने कोर्स से जुड़ा काम करना था तो उन्होंने कहा कि यहां इंटरनेट बहुत खराब है।

वहीं आकाश अंबानी ने उस वक्त कहा था कि कॉलिंग सर्विस के दिन अब पुराने हो गए हैं

आने वाला समय इंटरनेट का है. मुकेश अंबानी ने इवेंट में बताया था कि साल 2011 में इंटरनेट की स्पीड काफी धीमी थी

हाई स्पीड इंटरनेट महंगा था और आम भारतीयों की पहुंच से बाहर था। यहीं से जियो की शुरुआत हुई थी।

साल 2016 में बाजार में आए जियो द्वारा भारतीय दूरसंचार बाजार में तेजी से विस्तार की सिर्फ कल्पना ही की जा सकती थी।

Jio ने भारतीय बाजार में एक अलग तरीके से प्रवेश किया। कंपनी ने अपने प्लान्स के साथ कॉलिंग और एसएमएस सेवाओं को लगभग फ्री रखा और पूरी तरह से डेटा पर फोकस किया।

Jio को इसका फायदा कुछ ही दिनों में मिल गया, लेकिन ये कुछ दिन कंपनी के लिए चुनौतियों से भी भरे रहे।