महारानी एलिजाबेथ के शाही महल में 775 कमरे, 40 हजार बल्ब मोजूद हे

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 वर्ष की आयु में 8 सितंबर 2022 को निधन हो गया।

महारानी एलिजाबेथ 1952 में सिंहासन पर बैठीं और लगभग 7 दशकों तक शाही सिंहासन पर रहीं।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय लंदन के रॉयल पैलेस में रहती थीं। उनके शाही महल को बकिंघम पैलेस के नाम से जाना जाता है।

रानी के पास विंडसर कैसल, सैंड्रिंघम हाउस और बाल्मोरल सहित कई अन्य निवास घर भी थे, लेकिन उनमें से सबसे प्रसिद्ध बकिंघम पैलेस है।

लंदन में बकिंघम पैलेस Rct.uk के अनुसार, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के शाही महल बकिंघम पैलेस में 775 कमरे हैं।

इनमें 19 स्टेट रूम, 52 रॉयल और गेस्ट बेडरूम, 188 स्टाफ बेडरूम, 92 ऑफिस और 78 बाथरूम शामिल हैं।

यह स्थित है और पूरी दुनिया में इसकी भव्यता के चर्चे हैं। यह महल अंदर से काफी आलीशान नजर आता है।

बकिंघम पैलेस के पास विक्टोरिया ट्यूब स्टेशन, ग्रीन पार्क और हाइड पार्क कॉर्नर हैं। इस महल के चारों ओर बस से जाया जा सकता है।

वहीं अगर कोई कोच (ट्रेन) से जाना चाहता है तो यह महल विक्टोरिया कोच स्टेशन से मात्र 10 मिनट की पैदल दूरी पर है।

ब्रिटेन की वेबसाइट रॉयल कलेक्शन ट्रस्ट (Rct.uk) के अनुसार, बकिंघम पैलेस 1837 से ब्रिटिश शासकों (राजा या रानी) का आधिकारिक निवास रहा है।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का यह शाही महल हर गर्मियों में पर्यटकों के लिए खुला रहता है।

ब्लूमबर्ग के मुताबिक इस शाही घराने की कीमत करीब 341 अरब रुपये (3.7 अरब पाउंड) बताई जा रही है.