पंजाब में नशा छोड़ने वालों को मिल रहा रोजगार, शुरू हुआ ये कार्यक्रम

चंडीगढ़. नशे की गिरफ्त में पहुंच चुके पंजाब को इससे मुक्‍त कराने के लिए भगवंत मान सरकार ने कोशिशें शुरू कर दी हैं 

इतना ही नहीं नशे की लत को छोड़ रहे लोगों को बेहतर जीवन देने के लिए पहल कर दी गई है.  

पंजाब में नौजवानों को नशों से बचाने और उनके बेहतर भविष्य के लिए पंजाब  कौशल विकास मिशन (पीएसडीएम) ने नशा मुक्ति एवं पुनर्वास केन्द्रों में  विशेष कौशल प्रशिक्षण प्रोग्राम शुरू किया है 

नशे की लत को छोड़ चुके 30 नौजवानों को मिशन द्वारा प्‍लंबर के तौर पर  प्रशिक्षण देने के लिए 3 महीने का कौशल प्रशिक्षण प्रोग्राम बनाया गया है. 

उन्होंने आगे बताया कि पीएसडीएम के अधिकारियों ने इस सम्बन्ध में ओओएटी  सैंटर में नौजवानों के साथ मीटिंग की है और प्रशिक्षण का काम मैसर्ज लॉर्ड  गणेश इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टैक्नॉलॉजी, फिरोजपुर को दिया है 

सभी 30 प्रशिक्षण प्राप्त नौजवानों को अब प्‍लंबर के तौर पर जिले में रखा  गया है. इनमें से कुछ को नौकरियां भी मिली हैं जबकि अन्य स्व-रोजगार कर रहे  हैं. 

मिशन डायरेक्‍टर ने कहा कि इन नौजवानों को अन्य सहायता प्रदान करने के लिए  पीएसडीएम प्‍लम्‍बिंग का काम करने के उद्देश्यों के लिए विशेष किटें भी  प्रदान की गई हैं 

जिससे उनको बेहतर भविष्य के लिए रचनात्मक कदमों के द्वारा सक्षम बनाया जा सके.