मजबूत पासवर्ड बनाने के लिए अपनाएं ये खास टिप्स, नहीं होगा अकाउंट हैक

भारत में डिजिटलाइजेशन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। अब सब कुछ डिजिटल के जरिए ही हो रहा है।

लोग घर बैठे डिजिटल माध्यम से बैंक से पैसे निकालते हैं और टिकट भी बुक करते हैं।

इसके अलावा सोशल मीडिया साइट्स का इस्तेमाल भी बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

आजकल ट्विटर, इंस्टाग्राम, जीमेल और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर सभी की एक आईडी है। ऐसे में लोगों को इन सभी साइट्स के लिए पासवर्ड रखना होगा।

खास बात यह है कि कई लोगों के लिए इन सभी पक्षों के लिए अलग-अलग पासवर्ड याद रखना बहुत मुश्किल होता है।

ऐसे में लोग सभी सोशल मीडिया साइट्स और नेट बैंकिंग के लिए एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन यह खतरों से भरा होता है।

पासवर्ड कम से कम 8-12 शब्दों का रखें। पासवर्ड जितना लंबा होगा, उतना अच्छा होगा।

लंबे पासवर्ड को जनरेट करने के लिए अधिक समय की आवश्यकता होती है। ऐसे में हैकिंग करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

पासवर्ड बनाते समय अंकों का प्रयोग बड़े अक्षरों में करना चाहिए। अपर-केस और लोअर-केस में शब्दों को लिखना

साथ ही संख्याओं और वर्णों को शामिल करना (जैसे $£!), पासवर्ड को सुरक्षित और हैक करना मुश्किल बनाता है।

पासवर्ड बनाते समय मल्टी-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का इस्तेमाल करें। टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन के लिए हैकर्स को आपके खाते में प्रवेश करने से पहले दो स्तरों की सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ता है।

लोग अपने जन्मदिन, नाम, मोबाइल नंबर और खेल के नाम पर पासवर्ड बनाते हैं। ऐसे में हैकर्स इन पासवर्ड को आसानी से हैक कर सकते हैं।

आमतौर पर इस्तेमाल होने वाले पासवर्ड जैसे 'क्वर्टी' या '123456' से दूर रहें। ऐसे में करह का पासवर्ड साइबर हैकर्स आसानी से हैक कर सकते हैं।

पासवर्ड के रूप में डिक्शनरी शब्दों का उपयोग करने से बचना चाहिए, क्योंकि हैकर्स ऐसे शब्दों को डिक्शनरी में स्कैन करने और पासवर्ड क्रैक करने के लिए सॉफ़्टवेयर का उपयोग करते हैं।