पपीते में है सेहत का खजाना,इसे खाने क कई सारे फायदे होंगे 

पपीते का उपयोग हमारे आयुर्वेद में प्राचीन काल से किया जाता रहा है। पपीते में कई औषधीय गुण होते हैं जो रोगों में लाभकारी होते हैं।

इसमें विटामिन 'ए', विटामिन 'बी', विटामिन 'सी' और कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। पपीता कैलोरी में कम और पोषण में उच्च होता है।

इसमें विटामिन के अलावा मैग्नीशियम, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस और मैंगनीज जैसे खनिज पाए जाते हैं।

पपीते में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते हैं। पपीते में फोलेट मौजूद होता है जो हमारी रक्त वाहिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है।

पपीता खाने से हृदय रोग का खतरा कम होता है। पपीते में मौजूद पोटैशियम पूरे सर्कुलेटरी सिस्टम को बेहतर बनाता है

मधुमेह में अधिक फल खाना अच्छा नहीं माना जाता है। फलों का ग्लाइसेमिक इंडेक्स अधिक होता है

इसलिए इन्हें खाने से डायबिटीज वाले व्यक्ति का शुगर लेवल बढ़ जाता है। पपीते का ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा नहीं होता है

इस वजह से इन्हें डायबिटीज में खाया जाता है। पपीते में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और फाइबर डायबिटीज में फायदा करते हैं।

पपीता खाने से रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है। इसमें विटामिन सी और विटामिन ए होता है जो इम्युनिटी बढ़ाने का काम करता है।

अगर पाचन क्रिया सही न हो तो कई बीमारियां अपने आप आने लगती हैं। पपीता पाचन क्रिया में विशेष रूप से लाभकारी होता है।

कच्चा पपीता खाने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है। यह अपच, कब्ज और गैस की समस्या को दूर करता है।