रात भर जागने की आदत हे तो  तैयार रहें,ये बीमारियां कभी भी दस्तक दे सकती हैं

आपके शरीर को ठीक उसी तरह नींद की जरूरत होती है जिस तरह उसे प्रभावी ढंग से काम करने के लिए हवा और भोजन की जरूरत होती है।

नींद के दौरान, आपका शरीर खुद को ठीक करता है और अपने रासायनिक संतुलन को बहाल करता है।

इसके साथ ही आपका दिमाग नए विचारों के संबंध बनाता है और याददाश्त को बनाए रखने में मदद करता है।

नींद की कमी आपकी मानसिक क्षमताओं को नष्ट कर देती है और आपके शारीरिक स्वास्थ्य को खतरे में डाल देती है।

वजन बढ़ने से लेकर कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली तक, विज्ञान ने नींद की कमी को कई स्वास्थ्य समस्याओं से जोड़ा है।

सीडीसी के अनुसार, नींद की समस्या होने का मतलब है कि आपका रक्तचाप लंबे समय तक उच्च बना रहता है।

उच्च रक्तचाप हृदय रोग और स्ट्रोक के प्रमुख जोखिमों में से एक है। नींद की कमी आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर करने का काम करती है।

यदि आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आपका शरीर बीमारियों और संक्रमणों को रोकने में सक्षम नहीं होता है।

दिल को स्वस्थ रखने के लिए नींद बहुत जरूरी है। हाल के वर्षों में, नींद संबंधी विकारों को स्वास्थ्य कारकों के रूप में पहचाना गया है जो दिल के दौरे, दिल की विफलता, हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ाते हैं।

मधुमेह एक ऐसी बीमारी है जो आपके रक्त में बहुत अधिक शर्करा का निर्माण करती है, एक ऐसी स्थिति जो आपकी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है।

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि पर्याप्त नींद लेने से लोगों को रक्त शर्करा नियंत्रण में सुधार करने में मदद मिल सकती है।