पैरों का बार-बार सुन्न होना है गंभीर बीमारी का संकेत,तुरंत इलाज करिए

अगर आपके पैर भी अक्सर सुन्न हो जाते हैं या आपको उनमें अचानक ठंडक महसूस होती है, तो ये पेरिफेरल आर्टेरियल डिजीज (PAD) के लक्षण हैं।

यह एक बहुत ही सामान्य बीमारी है और भारत में इस बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या लाखों में है।

इस रोग में व्यक्ति की रक्त वाहिकाएं (धमनियां) सिकुड़ने लगती हैं, जिससे शरीर के अंगों में रक्त की आपूर्ति कम हो जाती है।

अमेरिका में 40 साल और उससे अधिक उम्र के करीब 65 लाख लोग पैड से परेशान हैं।

अमेरिकी सरकार की स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक अगर आपको यह बीमारी है

और समय पर इसका इलाज नहीं किया गया तो यह काफी खतरनाक हो सकता है।

जरा सी लापरवाही से कोरोनरी आर्टरी डिजीज और सेरेब्रोवास्कुलर डिजीज हो सकती है जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक हो सकता है।

अमेरिकी डॉक्टर लौरा पर्डी बताती हैं, "यदि कोई व्यक्ति वर्षों से मधुमेह, उच्च रक्तचाप या उच्च कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियों से पीड़ित है

तो संभव है कि वह परिधीय धमनी रोग का शिकार हो। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि इससे परिधीय धमनी रोग।

यदि सरल शब्दों में समझा जाए तो चिकित्सा भाषा से हटकर शरीर में रक्त के उचित प्रवाह की कमी को पेरिफेरल आर्टेरियल डिजीज (PAD) कहा जाता है।

खराब रक्त परिसंचरण के कारण, हृदय से शरीर के बाकी अंगों और ऊतकों तक ऑक्सीजन और रक्त का प्रवाह प्रभावित होता है।

खून के खराब सर्कुलेशन के कई कारण हो सकते हैं जिनमें सबसे बड़ा और सामान्य कारण शरीर में लंबे समय तक रहने वाले रोग हैं।

रक्त वाहिकाएं शरीर के अंगों को रक्त की आपूर्ति करती हैं और जब किसी कारणवश धमनियां सिकुड़ जाती हैं तो रक्त की आपूर्ति बाधित हो जाती है।