ITR भरने वाले हो तो जान लें ये बड़ा अपडेट

Income Tax Return दाखिल करने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है। इस वर्ष 31 जुलाई 2022 तक पर्सनल आयकरदाताओं को वित्त साल 2021-22 के लिए आईटीआर फाइल करना है।  

यदि इस तारीख के बाद आयकर रिटर्न दाखिल करते हैं तो जुर्माना भी लगाया जा सकता है। यदि किसी शख्स की आय टैक्सेबल ना भी हो तो ऐसा शख्स भी आयकर रिटर्न दाखिल कर सकता है 

ऐसे व्यक्तियों को आयकर रिटर्न दाखिल करने के कई लाभ भी मिलते हैं। हालांकि आयकर रिटर्न दाखिल करने में लोगों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। 

आयकर विभाग ने शनिवार को बोला कि करदाताओं को ई-फाइलिंग पोर्टल तक पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है  

और सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस पोर्टल पर ”अनियमित आवाजाही” से निपटने के लिए ”सक्रिय रूप से कदम” उठा रही है। इनकम टैक्स विभाग ने इसको लेकर ट्वीट भी किया है 

इनकम टैक्स विभाग ने ट्वीट करते हुए कहा, ”यह पाया गया है कि करदाताओं को इनकम टैक्स विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल तक पहुंचने में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।  

जैसा कि इंफोसिस ने बताया है कि उन्होंने पोर्टल पर कुछ अनियमित आवाजाही देखी है, जिससे निपटने के एक्टिव रूप से कदम उठाए जा रहे हैं।” 

बता दें कि नए ई-फाइलिंग पोर्टल ”डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट इनकमटैक्स डॉट जीओवी डॉट इन” को सात जून 2021 को प्रारम्भ किया गया था। 

इसकी आरंभ से ही करदाताओं और पेशेवरों को गड़बड़ियों का सामना करना पड़ा। इंफोसिस को पोर्टल विकसित करने का ठेका 2019 में दिया गया था। 

गवर्नमेंट ने नया इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल बनाने के लिए इंफोसिस को 164.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया है