IRCTC: अब चलती ट्रेन में कार्ड से भुगतान कर बनवा सकेंगे टिकट, रेलवे ने शुरू की ये जबरदस्त सर्विस

कभी-कभी आपात स्थिति में कोई व्यक्ति बिना टिकट ट्रेन में चढ़ जाता है।  ऐसे में जब कोई रेलवे अधिकारी अपने टिकट की जांच करता है 

और उसके पास टिकट नहीं है, तो उसे अनिवार्य रूप से जुर्माना भरना पड़ता है। 

ऐसे में जुर्माना भी नकद देना होगा।  लेकिन, भारतीय रेलवे अब यात्रियों की सुविधा के लिए बहुत अच्छी सेवा प्रदान कर रहा है।   

हां, यह आपको चलती ट्रेनों में डेबिट कार्ड द्वारा टीटी में टिकट जुर्माना  और टिकट अपग्रेड शुल्क का भुगतान करने की अनुमति देता है।  

दरअसल, रेलवे पीओएस (प्वाइंट ऑफ सेल-पीओएस) मशीनों को टीटी के साथ अपग्रेड कर रहा है और अब उनमें 4जी सिम लगा रहा है। 

आपको बता दें कि पहले टीटी के साथ 2जी सिम मशीनें ही मिलती थीं।  रेलवे के  मुताबिक अब तक देशभर में 4जी सिम वाली 36 हजार से ज्यादा मशीनें लगाई जा  चुकी हैं। 

इसका उद्देश्य रेल यात्रियों से अतिरिक्त किराया (कार्ड भुगतान) जुर्माना  या डिजिटल भुगतान के रूप में ऐसी मशीनों का उपयोग करके यात्रियों को कैशलेस  बनाना है।  उन्हें यह सुविधा दी जा सकती है। 

पीओएस मशीन को अपग्रेड करने से कई फायदे होंगे।  इसका सबसे बड़ा फायदा उन  यात्रियों को होगा जिनके पास टिकट नहीं था और उन्हें पेनल्टी के तौर पर नकद  भुगतान करना पड़ता था। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में रेलवे कर्मचारियों को अपग्रेडेड मशीनें मुहैया कराई गई हैं.