Health Tips : खून में इंसुलिन खत्म होने के संकेतों को पहचानें

मधुमेह में उच्च या निम्न रक्त शर्करा होना सही नहीं है, लेकिन कभी-कभी जब रक्त शर्करा बहुत अधिक रहता है, तो कीटोएसिडोसिस की स्थिति बन जाती है।

कीटोएसिडोसिस एक गंभीर समस्या है जो मधुमेह में होती है जिसमें शरीर से इंसुलिन खत्म हो जाता है (इंसुलिन रन आउट फ्रॉम ब्लड)।

एसीई में ग्लूकोज का स्तर इतना अधिक हो जाता है कि जान भी चली जाती है।

मूल रूप से ऐसा तब होता है जब कीटोन्स नामक हानिकारक पदार्थ शरीर में जमा होने लगते हैं और अगर जल्द ही इसका पता नहीं चला तो यह घातक हो सकता है।

कीटोएसिडोसिस यानि डीकेए एक आपात स्थिति है और कुछ लक्षण दिखाई देने पर रोगी को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाना चाहिए।

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) के अनुसार, यह वह स्थिति है जिसमें टाइप 2 मधुमेह का रोगी टाइप 1 के चरण में पहुंच जाता है।

इसमें रक्त ग्लूकोज खतरनाक रूप से उच्च हो जाता है क्योंकि शरीर में इसे संतुलित करने के लिए इंसुलिन नहीं होता है

इतना ही नहीं इंसुलिन की कमी के कारण शरीर को पोषक तत्व कोशिकाओं तक नहीं पहुंच पाते हैं।

दरअसल, जब शरीर ऊर्जा के लिए मांसपेशियों और वसा को तोड़ता है, तो रक्त और मूत्र में कीटोन्स जमा होने लगते हैं।

अगर आपको ये 3 लक्षण आते दिखें तो हो जाएं सावधान सांसों से मीठे फल की महक सांस की तकलीफ या सीने में भारीपन महसूस होना

अचानक उल्टी या महसूस होना ये तीन संकेत चेतावनी के संकेत हैं और इन्हें अनदेखा करने से बेहोशी, मतिभ्रम या मृत्यु भी हो सकती है।