नितिन गडकरी की घोषणा के साथ, प्रत्येक सेगमेंट के वाहन कई कीमत बढ़ेगी

यात्री कारों में एक अक्टूबर 2023 से 6 एयरबैग का नियम लागू हो जाएगा। सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने यह जानकारी दी है

उन्होंने कहा कि ऑटो उद्योग आपूर्ति श्रृंखला की समस्या का सामना कर रहा है।

इसी के चलते यह फैसला लिया गया है कि यात्री वाहनों में 6 एयरबैग अनिवार्य करने का फैसला एक अक्टूबर 2023 से लागू किया जाएगा।

इस साल की शुरुआत में सड़क परिवहन मंत्रालय ने 1 अक्टूबर 2022 से 6 एयरबैग को अनिवार्य करने का प्रस्ताव दिया था।

ग्लोबल सप्लाई चेन की समस्याओं और इसके मैक्रो- को ध्यान में रखते हुए- आर्थिक स्थिति को देखते हुए एम-1 श्रेणी के यात्री वाहनों में 6 एयरबैग होने का निर्णय लिया गया है

सड़क परिवहन मंत्री ने आगे ट्वीट किया और लिखा कि किसी भी यात्री वाहन में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है, चाहे उसकी कीमत और प्रकार कुछ भी हो।

वाहन पोर्टल के अनुसार एम-1 श्रेणी के अंतर्गत ऐसे मोटर वाहन आते हैं जिनमें चालक की सीट और 8 लोगों के बैठने की क्षमता सहित कुल 8 सीटें होती हैं।

माना जा रहा है कि सरकार के इस फैसले के बाद एंट्री लेवल सेगमेंट की कारें महंगी हो जाएंगी।

केवल एंट्री लेवल सेगमेंट के वाहन ही 17,000 रुपये से अधिक की कीमतों में बढ़ोतरी देख सकते हैं।

भारतीय सड़कों पर चलने वाले लाखों वाहनों में से कुछ चुनिंदा वाहनों को ही 6 एयरबैग मिल रहे हैं।

देश में 10 फीसदी से भी कम कारें 6 एयरबैग फीचर से लैस हैं। एयरबैग को किसी भी यात्री वाहन में सबसे आवश्यक सुरक्षा सुविधाओं में से एक के रूप में देखा जाता है

आपको बता दें कि कुछ कंपनियां पहले सिर्फ एक एयरबैग वाली कारें बेच रही थीं। बाद में सरकार ने कार में 2 एयरबैग रखना अनिवार्य कर दिया।

इस साल जनवरी 2022 से सभी कार कंपनियों को अपग्रेड करने के लिए मजबूर होना पड़ा।