अगर आप भी GB Whatsapp का इस्तेमाल करते हैं तो हो जाएं सावधान

हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई है जो चौंकाने वाली बात सामने आई है, इसमें पाया गया है कि भारत सबसे ज्यादा एंड्रॉयड वायरस से संक्रमित देशों की सूची में शामिल है।

आपको बता दें कि यह जानकारी मालवेयर प्रोटेक्शन एंड इंटरनेट सिक्योरिटी फर्म ईएसईटी की टी2 2022 थ्रेट रिपोर्ट के जरिए सामने आई है।

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि भारत उन देशों में शामिल है जहां एंड्रॉइड/स्पाई एजेंट ट्रोजन मालवेयर का सबसे ज्यादा पता चला है।

बता दें कि ये ट्रोजन एजेंट मैलवेयर फाइल या कोड होते हैं जो डिवाइस को टारगेट करते हैं।

रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि थर्ड पार्टी व्हाट्सएप क्लाइंट या क्लोन जीबी व्हाट्सएप अपने यूजर्स को व्हाट्सएप के सभी स्टैंडर्ड फीचर्स ऑफर करता है

लेकिन साथ ही यूजर्स की सुविधा के लिए इसमें कुछ एक्स्ट्रा फीचर भी हैं। फीचर्स भी मिलते हैं, जिसकी वजह से यह ऐप यूजर्स को काफी पसंद आ रहा है।

ये वो फीचर हैं जो फिलहाल आधिकारिक व्हाट्सएप ऐप पर उपलब्ध नहीं हैं और इन ऐप के लालच में यूजर्स अनऑफिशियल ऐप जीबी व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं।

रिपोर्ट से पता चला है कि जीबी व्हाट्सएप पिछले चार महीनों में एंड्रॉइड स्पाइवेयर डिटेक्शन के एक बड़े हिस्से के लिए जिम्मेदार है।

क्योंकि ऐसा ऐप डाउनलोड करने के बाद जब आप इसे अपने फोन में इंस्टॉल करते हैं तो आपका फोन सबसे पहले आपको ऐसे गैर-विश्वसनीय ऐप को इंस्टॉल करने की चेतावनी देता है।

अगर आप अभी भी ऐसा कोई ऐप इंस्टॉल करना चाहते हैं तो आपको फोन की सेटिंग में जाकर इंस्टाल अननोन ऐप्स के ऑप्शन को इनेबल करना होगा।

यह ध्यान देने योग्य है कि Google Play प्रोटेक्ट Google Play Store से डाउनलोड और इंस्टॉल किए गए ऐप्स को स्कैन करता है

लेकिन ऐसी APK फ़ाइलों से इंस्टॉल किए गए ऐप्स आपके डिवाइस पर आसानी से वायरस कोड इंस्टॉल कर लेते हैं।