इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली पांच कंपनियों को सरकार से मिला नोटिस,जानिए क्या है मामला 

केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) ने इलेक्ट्रिक वाहनों में  बैटरी आग लगने की घटनाओं पर संज्ञान लेते हुए पांच ई-वाहन निर्माताओं को  नोटिस जारी किया है।  

केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण की मुख्य आयुक्त निधि खरे ने कहा कि  प्राधिकरण ने इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं को लेकर पांच ई-वाहन  निर्माताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

उन्होंने कहा कि सीसीपीए ने डीआरडीओ द्वारा गठित समिति से भी रिपोर्ट मांगी है.   

सेंटर फॉर फायर एक्सप्लोसिव्स एंड एनवायरनमेंट सेफ्टी (सीएफईईएस) के  विशेषज्ञों की एक टीम ने इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के कारणों का पता  लगाया है।  

यह एजेंसी रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के तहत काम करती है। 

निधि खरे ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटनाओं में कई लोगों की जान चली गई है.   

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बाजार में बिकने वाले स्कूटर निर्धारित मानकों पर खरे उतर रहे हैं. 

आपको बता दें कि इस साल देशभर में ई-स्कूटर में आग लगने के 38 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. 

पहला मामला इस साल मार्च में पुणे में सामने आया था जहां एक ओला स्कूटर में आग लग गई थी।