अगर हाथ-पैरों पर दिखेंगे कोलेस्ट्रॉल के ये 4 लक्षण तो खाइये ये चीजे

किसी भी तरह से अच्छे स्वास्थ्य का संकेत नहीं है। रक्त वाहिकाओं में मौजूद यह मोम जैसा पदार्थ शरीर के बेहतर कामकाज के लिए कम मात्रा में आवश्यक होता है

लेकिन इसका स्तर बढ़ने से हृदय रोग, दिल का दौरा और स्ट्रोक जैसी जानलेवा बीमारियों का खतरा हो सकता है।

कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है, अच्छा कोलेस्ट्रॉल और खराब कोलेस्ट्रॉल, जिनमें से जब शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर अधिक होता है

तो स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। आपका लीवर भी शरीर में कोलेस्ट्रॉल बनाता है, लेकिन इसका सबसे बड़ा कारण है आप जो खाना खाते हैं।

किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि में शामिल न होना भी इसका एक बड़ा कारण है।

चिंता की बात यह है कि शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के कोई स्पष्ट लक्षण नहीं हैं

लेकिन कुछ ऐसे संकेत हैं जिनसे पहचाना जा सकता है कि यह गंदा पदार्थ आपकी रक्त वाहिकाओं में जमा होना शुरू हो गया है।

दरअसल, उच्च कोलेस्ट्रॉल रक्त वाहिकाओं को अवरुद्ध कर सकता है, जो शरीर में रक्त के प्रवाह को धीमा कर सकता है और इसके कुछ लक्षण हाथों और पैरों में देखे जा सकते हैं।

कोलेस्ट्रॉल हाथ-पांव की रक्त वाहिकाओं को बंद कर सकता है। इससे आपके हाथों और पैरों में तेज दर्द हो सकता है।

इतना ही नहीं, यह झुनझुनी या सुन्नता का कारण बन सकता है। जाहिर है कि ये लक्षण गठिया के भी होते हैं, इसलिए सटीक कारण जानने के लिए आपको जांच करानी चाहिए।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक रिपोर्ट के अनुसार, घुलनशील फाइबर का भरपूर सेवन करें।

घुलनशील फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ आपके पाचन तंत्र को कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित करने से रोकने में मदद करते हैं।

आपको साबुत अनाज जैसे दलिया और जई का चोकर, सेब, केला, संतरा, नाशपाती और प्रून जैसे फल, राजमा, दाल, छोले, काली आंखों वाले मटर और लीमा बीन्स जैसे फल खाने चाहिए।