चीन ताइवान समाचार: ताइवान के पास चीन के सैन्य अभ्यास से अमेरिका को बड़ा फायदा

अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा के जवाब में चीन ने चार दिनों तक बड़े पैमाने पर सैन्य अभ्यास किया है।  

इस बीच चीनी युद्धपोतों और पनडुब्बियों ने ताइवान को घेर लिया और हमले के लिए छद्म वातावरण तैयार कर लिया।

ताइवान ने खुद स्वीकार किया कि चीन का युद्धाभ्यास कोई सामान्य घटना नहीं है, बल्कि भविष्य के युद्ध का पूर्वाभ्यास है।

हालांकि, चीन के सैन्य अभ्यास से मौजूदा अमेरिका को फायदा हुआ।  अमेरिका और  उसके सहयोगियों ने अभ्यास से महत्वपूर्ण खुफिया जानकारी हासिल की।

इस अभ्यास ने अमेरिका को उस मिसाइल का परीक्षण करने का मौका दिया, जिसका  इस्तेमाल चीन की सेना भविष्य में किसी भी देश पर होने वाले हमलों में करने  की योजना बना रही है

चीन ने दावा किया कि उसकी मिसाइलों ने ताइवान के पास युद्धाभ्यास के दौरान द्वीप के आसपास एक पूर्व निर्धारित क्षेत्र को मारा।

दो अमेरिकी सैन्य अधिकारियों ने स्वीकार किया है कि उन्होंने ताइवान के पास चीनी युद्धाभ्यास पर डेटा एकत्र किया।  

उन्होंने कहा कि इस तरह के युद्धाभ्यास दुश्मन की गहरी खुफिया जानकारी जुटाने में बहुत मदद करते हैं।

एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि चीन के अभ्यास के दौरान अपनी  बेहतर रणनीति और गुप्त सैन्य क्षमताओं का पूरी तरह से प्रदर्शन करने की  संभावना नहीं है।