इन 3 लोगों का साथ कभी न छोड़ें, मुसीबत में इनसे बड़ा बल किसी का नहीं

सुख और दुख जीवन का हिस्सा हैं। सुख बांटने से बढ़ता है और दुख बांटने से घटता है।

चाणक्य ने विपरीत परिस्थितियों में खुद को संभालकर आगे बढ़ने के बारे में अपने विचार साझा किए हैं।

चाणक्य कहते हैं कि जीवन में तीन ऐसे लोग होते हैं जिनका होना व्यक्ति को मुश्किल समय में हिम्मत देता है।

बुद्धिमान पत्नी संस्कारी और समझदार पत्नी का साथ होना सौभाग्य की बात है।

विपरीत परिस्थितियों में ऐसी पत्नियां अपने पति के साथ परछाई की तरह खड़ी रहती हैं।

इतना ही नहीं वह हर मुश्किल घड़ी का डटकर सामना करती हैं और व्यक्ति को उन परिस्थितियों से लड़ने की हिम्मत भी देती हैं।

बेटा : बच्चे अपने माता-पिता का सहारा होते हैं। हर माता-पिता की उम्मीद होती है कि उनका बच्चा एक गुणी व्यक्ति बने

समाज ने उनका और परिवार का नाम रोशन किया है। अगर बच्चों को शुरू से ही सही दिशा मिल जाए तो वे बुढ़ापे में मां-बाप की ताकत बन जाते हैं।

उस पर कोई गर्मी न आने दें। चाणक्य के अनुसार जिसके पास ऐसा पुत्र है वह कभी दुखी नहीं हो सकता। ऐसा बेटा होने से माता-पिता कभी भी मुश्किल समय में खुद को अकेला नहीं पाते हैं।

अच्छे लोगों की कंपनी एक व्यक्ति की कंपनी उसकी दिशा और स्थिति निर्धारित करती है

अगर जीवन में सज्जनों और अच्छे लोगों का साथ मिलता है, तो व्यक्ति बहुत आगे बढ़ता है और सुखी जीवन जीता है

क्योंकि ऐसे लोग आपको गलत रास्ते पर नहीं जाने देते हैं। वह निःस्वार्थ भाव से आपका सर्वश्रेष्ठ चाहता है।