इन 3 लोगों की पकड़ में आए तो नर्क बन जाएगी जिंदगी, दूर रहना ही बेहतर

मौर्य काल के महान राजनेता आचार्य चाणक्य की नीतियां हमें हर कदम पर सतर्क और सतर्क रहना सिखाती हैं।

चाणक्य के विचारों का पालन करने वालों को जीवन में शायद ही कभी धोखा मिलता है।

चाणक्य ने कुछ ऐसे लोगों का जिक्र किया है जो जीते-जी इंसान की जिंदगी को नर्क बना देते हैं, ये वो लोग हैं जिनसे हमारा गहरा नाता है और हम रोज इन लोगों से मिलते हैं.

चाणक्य नीति का कहना है कि अगर वह लंबे समय तक आपके साथ रहे, तो जीवन नर्क बन जाएगा

इसलिए ऐसे लोगों से जल्द से जल्द दूरी बना लें। आइए जानते हैं चाणक्य ने किन लोगों के बलिदान की बात कही है।

दुष्ट पत्नी : एक आदमी का सबसे महत्वपूर्ण साथी उसकी पत्नी है। चाणक्य कहते हैं कि दुष्ट स्वभाव वाली स्त्री, जिसके वचन कटुता, झूठ और छल से भरे होते हैं

ऐसी पत्नी के साथ रहना नरक में रहने के समान है। यह न केवल पति के जीवन को बर्बाद करता है बल्कि बच्चों और परिवार पर भी नकारात्मक प्रभाव डालता है।

चाणक्य के अनुसार अगर किसी महिला में शादी से पहले ऐसे गुण नजर आते हैं तो व्यक्ति को उसे अपना जीवन साथी बनाने से पहले सौ बार सोचना चाहिए।

मुंहफट नौकर : चाणक्य कहते हैं कि अगर आपके घर का नौकर या नौकर कुंद है, मालिक का अपमान करता है और पीछे मुड़कर जवाब देता है, तो उसके साथ संतुलित व्यवहार रखें

ऐसे लोगों को घर में न रखना ही बेहतर होगा क्योंकि ऐसे नौकर का साथ मौत को न्यौता देने जैसा होता है। 

वे आपको धोखा दे सकते हैं और आपको कभी भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

स्वार्थी दोस्त : दोस्तों हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं चाणक्य ने दोस्तों की पहचान को लेकर भी कई नीतियां बताई हैं।

उनका कहना है कि जो चेहरे पर किसी चीज पर होते हैं और कुछ पीठ के पीछे, ऐसे लोग कभी भी आपकी दोस्ती के लायक नहीं हो सकते।

धोखा देना, छल करना इनका स्वभाव है, एक समय ऐसा आएगा जब वे आपको भी धोखा देने से नहीं हिचकिचाएंगे।