चाणक्‍य नीति: अगर आप भी बनना चाहते हैं अमीर, तो अपनाएं चाणक्य की ये बातें...खुल जाएगी किस्मत

बेशुमार धन-दौलत का मालिक बनने की इच्‍छा है तो इसके लिए मां लक्ष्‍मी की कृपा होना बहुत जरूरी है.

वहीं मां लक्ष्‍मी उन्‍हीं लोगों पर मेहरबान होती हैं जो कुछ खास आदतों के  मालिक होते हैं, अच्‍छा आचरण करते हैं और सफलता पाने के लिए लगातार कोशिशें  करते रहते हैं 

महान अर्थशास्‍त्री और विद्वान आचार्य चाणक्‍य ने मां लक्ष्‍मी को  प्रसन्‍न करने के कुछ खास तरीके बताए हैं, यदि उन पर अमल किया जाए तो  व्‍यक्ति कुछ ही समय में अमीर बन सकता है. 

1. पैसा है तो आत्मविश्वास बना रहता है आचार्य चाणक्य के मुताबिक, मनुष्य के भौतिक जीवन में पैसा एक जरूरी साधन है। 

कहा जाता है कि पैसा होने पर जीवन जीना आसान हो जाता है। मनुष्य  आत्मविश्वास से भरा होता है और सफलता के लिए आत्मविश्वास भी आवश्यक है. 

2. कमाई से ज्यादा पैसा कभी खर्च नहीं करें पैसा खर्च करने से पहले हजार बार सोचें। चाणक्य नीति के तहत, मनुष्य को पैसा बहुत सोच-समझकर ही खर्च करना चाहि 

पैसा खर्च करते समय जो लापरवाह होते हैं, भविष्य में उन्हें बहुत तकलीफों  का सामना करना पड़ सकता है. कभी भी कमाई से ज्यादा पैसा खर्च नहीं करना  चाहिए. पैसे का उपयोग हमेशा जरूरी और सही जगह पर ही होना चाहिए. 

3. कुछ लोगों से दूर रहना जरूरी हो सकता है कि आपकी ओर से सफलता के लिए किए जा रहे प्रयास में बाधा उत्पन्न हो, लोग अड़चन पैदा करने की कोशिश करें. 

आचार्य चाणक्य के अनुसार, ऐसे लोगों से हमेशा दूर रहें और बाधाओं को दूर  करने के लिए परिश्रम करना न छोड़ें, निराशा को हावी नहीं होने दें. 

4. बुरे समय में पैसा आपका सच्चा दोस्त जीवन  में पैसा बचाने की आदत होनी चाहिए, जो ऐसा करते हैं वे खराब समय में भी  दिक्कतों से बाहर निकल जाते हैं. चाणक्य के मुताबिक, पैसा बुरे समय में  आपका सच्चा साथी होता है.

अगर यह भी आपके साथ हो, तो खराब से खराब समय भी आसानी से गुजर जाता है.  लक्षमी जी भी उनसे विशेष खुश रहती हैं, जो धन बचाने पर जोर देते हैं.