5G को लेकर बड़े-बड़े दावे, लेकिन 56% भारतीय कॉल ड्रॉप से हैं परेशान

भारतीय 5जी का इंतजार कर रहे हैं। Jio और Airtel की ओर से अक्टूबर में 5G नेटवर्क उपलब्ध कराया जा सकता है।

दावा किया जा रहा है कि 5जी नेटवर्क को 4जी से 10 गुना तेज स्पीड मिलेगी।

हालांकि, हकीकत में फिलहाल कहानी कुछ अलग है। एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में करीब 56 फीसदी लोग 'कॉल ड्रॉप' और कॉल नेटवर्क से परेशान हैं.

इसका मतलब है कि देश की एक बड़ी आबादी के पास बेहतर 4जी नेटवर्क तक पहुंच नहीं है

जिससे बार-बार कॉल कटने और फोन पर बात करते समय नेटवर्क न होने के कारण इंटरनेट कनेक्टिविटी की समस्या होती है।

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म लोकलसर्किल के मुताबिक, भारत के 339 जिलों में कॉल क्वालिटी पर केंद्रित एक सर्वे किया गया।

सर्वे में पाया गया कि 56 फीसदी लोग कॉल नेटवर्क और कॉल ड्रॉप जैसी समस्याओं का सामना कर रहे हैं।

82 फीसदी लोगों को नेटवर्क की समस्या से निपटने के लिए डेटा या वाईफाई कॉल का सहारा लेना पड़ता है।

यह पूछे जाने पर कि पिछले तीन महीनों में उनके कितने प्रतिशत कॉल खराब नेटवर्क या कॉल ड्रॉप का सामना कर रहे हैं

37 प्रतिशत ने कहा कि उनकी 20 से 50 प्रतिशत कॉलों को ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ा।

सर्वे में शामिल 8,364 लोगों में से 91 प्रतिशत ने कहा कि वे कॉल नेटवर्क और ड्रॉप कॉल से परेशान हैं, जबकि 56 प्रतिशत ने कहा कि यह एक गंभीर समस्या है।

दूरसंचार विभाग (DoT) की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सबसे पहले 13 शहरों में 5G सेवा शुरू की जाएगी.

जिन शहरों में लोगों को सबसे पहले 5जी कनेक्टिविटी मिलेगी उनमें अहमदाबाद, बैंगलोर, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे शामिल हैं।

Jio 24 अक्टूबर यानी दिवाली तक देश में 5G लॉन्च कर सकता है। वहीं एयरटेल की ओर से 12 अक्टूबर की तारीख का ऐलान किया गया है।