Business Ideas: सरकारी सहायता से शुरू करें सफेद चंदन की खेती, कुछ वर्षों में हो जाएंगे मालामाल

नई दिल्‍ली. आजकल बहुत से पढ़े-लिखे लोग खेती (Farming) को अपना प्रोफेशन बना रहे हैं. 

कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन में बहुत से लोगों ने फार्मिंग को अपनाया और वे आज अच्‍छा पैसा कमा रहे हैं. 

ये ऐसे लोग हैं, जिन्‍होंने परंपरागत खेती के बजाय आधुनिक तरीके से खेती की है.  

गेहूं-चावल जैसी फसलें उगाने के बजाय इन्‍होंने फूलों, औषधीय पौधों इत्यादी की खेती की, जिनकी मांग आजकल बहुत ज्‍यादा है. 

अगर आप भी खेती को अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं तो आपको सफेद चंदन की खेती (white sandalwood farming) करनी चाहिए. 

इस खेती को शुरू करने के लिए आपको सिर्फ 80 हजार से 1 लाख रुपए लगाने  होंगे, इसके बाद आपको कम से कम 60 लाख रुपए का मुनाफा हो सकता है 

सफेद चंदन के पेड़ से निकलने वाला तेल और लकड़ी दोनों ही औषधियां बनाने के काम आती हैं. 

साबुन, कॉस्मेटिक्स और पर्फ्यूम में सफेद चंदन के तेल को खुशबू के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. 

चंदन की खेती के साथ सबसे अच्‍छी बात यह है यह ज्‍यादा मेहनत नहीं मांगती है. सफेद चंदन की खेती रेतीली जमीन में भी की जा सकती है. 

चंदन की खेती करने के लिए हरियाणा में तो सरकार सहायता भी देती है. सरकार  पौधे खरीदने, पानी का टैंक बनाने और ड्रिप इरिगेशन सिस्‍टम स्‍थापित करने  के लिए सब्सिडी देती है 

दन के पौधे काफी महंगे आते हैं. सबसे ज्‍यादा खर्च पौधों पर ही होता है.