बादाम को बिना छीले कभी न खाएं, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

बादाम को मेवा से ज्यादा लोग ड्राई फ्रूट्स के रूप में जानते हैं। इसका पेड़ मध्यम आकार का, गुलाबी और सफेद फूलों वाला होता है

बादाम का सेवन दिमाग के लिए रामबाण माना जाता है। यह वृक्ष पर्वतीय क्षेत्रों में अधिक पाया जाता है।

देखा जाए तो बादाम के पेड़ एशिया में ईरान, इराक, मक्का, शिराज आदि जगहों पर ज्यादा पाए जाते हैं।

अगर इसका सही तरीके से सेवन किया जाए तो आपके दिमाग के न्यूरॉन्स को सक्रिय करना आसान हो जाता है।

बादाम में टैनिन सॉल्ट कंपाउंड मौजूद होता है। इसके सेवन से शरीर को बादाम के पूरे पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं।

इसलिए हमें बादाम का छिलके के साथ सेवन नहीं करना चाहिए। अक्सर कई लोग जल्दबाजी के कारण सूखे बादाम का सेवन करने लगते हैं।

ऐसा करने से शरीर में पित्त का असंतुलन बढ़ने लगता है। जिससे आप बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। इसलिए बादाम को छिलके सहित खाने से बचें।

बादाम को छिलके सहित खाने से इसके कुछ कण आपकी आंतों में फंस जाते हैं। इससे पेट में दर्द, जलन, गैस बनने की संभावना रहती है।

बादाम का उपयोग घर में व्यंजन बनाने के लिए भी किया जाता है। लेकिन जो लोग रोजाना बादाम का सेवन करते हैं उनके लिए इस तरह से बादाम का सेवन फायदेमंद हो सकता है। बादाम को रात भर पानी में भिगो दें

सुबह इसका छिलका निकाल कर सेवन करें। इससे बादाम की गर्मी कम हो जाती है। बादाम को आप सुबह पीसकर दूध में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

साथ ही आप इसे भून कर शाम को नाश्ते के तौर पर भी खा सकते हैं. डायटीशियन एक दिन में 5-8 बादाम खाने की सलाह देते हैं।